अकेला चना भाड़ फोड़े न फोड़े लेकिन अकेला आदमी कुआँ ज़रूर खोद सकता है

0
195

कहते हैं जहाँ चाह वहां राह. अगर इन्सान कुछ करना चाहे तो उसे उसका रास्ता ज़रूर ही मिलता है. गर्मियों में पानी की किल्लत काफी बढ़ जाती है. जैसे-जैसे पारा ऊपर चढ़ता जाता है वैसे-वैसे लोगों की मुश्किलें बढ़ती जाती हैं. ऐसे में मध्य प्रदेश के 70 साल के बूढ़े व्यक्ति ने ऐसा कारनामा कर दिखाया है जिसे जानने के बाद आप हैरान रह जाएंगे.

यह बूढ़ा व्यक्ति बीते 3 साल से पानी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए कुआं खोदने में लगा है. यह पूरा मामला मध्य प्रदेश के हदुआ गांव के छतरपुर का है. इस आदमी का नाम सीताराम राजपूत है जिसकी उम्र 70 साल है. इस गांव की आबादी 300 है जहां पर दिन पर दिन पानी की समस्या बढ़ती जा रही थी जिस वजह से इस शख्स ने खुद कुआं खोदने का फैसला लिया.

इसके साथ ही सीताराम ने बताया – ‘इस काम में मदद करने के लिए न तो सरकार और न ही गांव के लोग राजी थे. जिस वजह से मैंने खुद यह कदम उठाया. मैंने खुद का पैसा भी लगाया है. इंसान तो इंसान पानी की कमी से जानवरों को भी दिक्कत हो रही है.’वहीं अब सरकार ने सीतारात राजपूत को मदद का भरोसा दिलाया है. यूनियन मिनिस्टर वीरेन्द्र खटिक ने न्यूज एजेंसी से बात करते हुए कहा – ‘सीताराम राजपूत की हिम्मत का सम्मान करते हैं. 20 साल के युवक में भी ऐसी इच्छा शक्ति नहीं होगी. दो दिन के अंदर ही इस समस्या का समाधान निकाला जाएगा.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here